Agar bhigane ka itna hi saukh hai,

Toh dekho meri aakho me,

Barish toh har kisi ke liye hoti hai,

Par ye aankhe bas tumhare liye barashti hai.

 

अगर भीगने का इतनाही शौख है ,

तोह देखो मेरी आखो में ,

बारिश तोह हर किसी के लिए होती है ,

पर  ये आखे बस तुम्हारे लिए बरसती है।

Facebook Comments
Romantic Dard Bhari Shayari -Bhigana Hai Toh Bhigo Mere Payar Me
Rate this post